देवी ध्यान

माँ जदम्बा आदि शक्ति के अनेकों रूप है जिनका वर्णन करने में साधारण पुरुष

जन्मो जन्मो के प्रयास से भी सफल नहीं हो सकता है !यहां हम माता के विभिन्न रूपों की ध्यान प्रार्थना एवं स्तुतियों का संग्रह हैं !माँ भवानी के उपासकों के लिए दिव्य स्तुतियों का संग्रह यहना उपलब्ध है

अगर आप माता की साधना करना चाहते हैं या फिर क्र रहे है तो अपनी नित्य पूजा में माता के इन श्लोकों का उच्चारण आपकी श्रद्धा और सिद्धि में लाभदायक सिद्ध होंगे

पार्वती और हेमवती ध्यान.मंत्र

वन्दे वान्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्।

वृषारुढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम् ।।

श्री लक्ष्मी गणेश ध्यान मंत्र –

दन्ताभये चक्रवरौ दधानं कराग्रगं स्वर्णघटं त्रिनेत्रम् ।

धृताब्जयालिङ्गितमाब्धि पुत्र्या-लक्ष्मी गणेशं कनकाभमीडे ।।

भगवती गौरी का ध्यान

नमो देव्यै महादेव्यै शिवाय सततं नमः ।

नमः प्रकृत्यै भद्रायै नियताः प्रणताः स्म ताम् ।।

(Visited 24 times, 1 visits today)

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *