राम जी का ध्यान

मर्यादापुरुषोत्तम भगवान श्री रामचंद्र जी का चरित्र किसे नहीं भाता !जैसा उन चरित्र है वैसे ही उनके गुणानुवाद हैं ,इन श्लोकों के माध्यम से हम भगवान श्री रामचंद्र जी के गुणों का गान करेंगे ! रामध्यान मंत्र ऊँ आपदामप हर्तारम दातारं सर्व सम्पदाम, लोकाभिरामं श्री रामं भूयो भूयो नामाम्यहम । श्री रामाय रामभद्राय रामचन्द्राय वेधसे रघुनाथाय नाथाय सीताया पतये नमः ।। ऊँ मध्याह्ने विष्णुरूपां च तार्क्ष्यस्थां पीतवाससाम् । युवतीं च यजुर्वेदां सूर्यमण्डलसंस्थिताम् ।। ऊँ सायाह्ने शिवरूपां च वृध्दां वृषभवाहिनीम् ।

» Read more